#Rushivarji #BUDHAPURNIMA #mondaythoughts गोपी कोई पुरुष या स्त्री नहीं है गोपी एक भाव है ।जो गुप्त तरह से श्री कृष्ण से प्रेम करे वह गोपी ही है-परम पूज्य रृषिवरजी
2
0
0
6